गीत

0
सुर्ख दंदासा, नैन नशीलेनाजुक बुल्लियां, बोल रसीलेगभरू सारे अक्खियें कीह्‌लेपांदा खूब धमाल नखरा गोरी दाकरी टकांदा घाल नखरा गोरी दा

आ, किट्ठे पीचै पानी

0
बक्करी आखै शेरै गी—आ, किट्ठे पीचा पानीसुखै-दुखै दियां गल्लां करचैबनचै फ्ही अमर क्हानी शेर आखदा—सुनी लै बक्करियेकु’त्थुआं दा पीगे...

गीत

0
आसें, मेदें, सुखनें, ताह्‌गेंकिश भाव-छुआलें दी बुनतरजे है तां बनदे गीत, गीतजे नेईं तां बेमैह्‌ने अक्खर रत्तु चा उब्भरदे...

मिगी लेई चल ऐसे थाह्‌र

0
मिगी लेई चल ऐसे थाह्‌रजित्थें तु’म्मी नेईंजित्थें मि’म्मी नेईंचबक्खै मारू इक डंडकारचल, लेई चल ऐसे थाह्‌रजित्थें तु’म्मी नेईंजित्थें मि’म्मी नेईं

जीवन -काल

0
जीवन-काल बधा दा अग्गेंसुरें-बेसुरें, ताल-बेतालेंएह्का ताल ता-थेइएं गानाभरमें किश भलेखें जाना साज़िंदें दी ठोकर खाइयैसाज़ कदें बी सुरें नेईं...

तपाश

0
जिस घट मेदी दीआ बलदा उज्जल करै चौपासीउस घट चंदरी कुद्धरा आइयै डंगी जाऐ दुआसी इस घट कु'न जो...

प्रकृति दी रानो

0
में तुप्पै करना आंउस कुड़ी गीजेह्‌ड़ी बैठी दी ऐबदलुएं दी डोली चते जिसनेपाई दी ऐ पशाकी बसैंतीते कज्जे दा ऐ सिरतारें दी...

फ्ही बचपन आया

0
फेरा साल सठमें पायालग्गा जे फ्ही बचपन आयाढलदी जीवन दी स’ञां गीथ्होआ जि’यां कोई सरमायाफेरा साल सठमें पायालग्गा जे फ्ही बचपन आया

मजबूर

0
खुद-मुख्तेआर कोई बेशक जरूर ऐसमें कन्नै चलने गी माह्‌नू मजबूर ऐ । समें गी ते आदमी निं कदें छली...

करोना-2

0
मास्क लाइयै जाना-औनाचक्कर ला दा ई सारै करोनाइ'दी दोआई ऐ इक्कले-इक्कलेफ्ही गै मरना एह् करोनामास्क लाइयै जाना-औना दुनिया एह्‌दे...

गीत

0
में दपट्टियै गी पिच्छ लोआईते चोनां पा , अड़िये।कुड़ी खेढियै मैली करी आईते धोनां पा, अड़िये ! छब्बी दी...

मेरी दुविधा

0
अजकल्ल में दुविधा च फसेआआपमुहारे आपूं हस्सेआकंडा चुभदा पैरे गी छ्‌होंदाचानक गै उई की होंदा? कुधरै बिपता भारी बनदीदुखड़ें...

गीत

0
नित्त रक्खनां में रीह्‌जां लाईजीवन ग्रंथ होऐ सुखदाईमें इसदे ब’र्कें-ब’र्के परअक्खर-अक्खर जोत जगाईरौशन-रौशन रौह्‌न सदा मनउज्जल-उज्जल लोक-लुकाईजीवन ग्रंथ होऐ सुखदाईनित्त रक्खनां में...

गीत

0
झुल्लेआ कैसा कैह्‌र, लोकोझुल्लेआ कैसा कैह्‌रकु’न्न कमाया बैर, लोकोकु'न्न कमाया बैरएह् करोना डाह्‌डा मारूब'रदा बनियै जैह्‌र, लोकोझुल्लेआ कैसा कैह्‌र

अति गै अंत ऐ

0
कुसै चीजै दी अति गैओह्‌दा अंत ऐ— जदूं कुसै चीजै दी भुक्खघड़ी-मुड़ी लग्गैबजाए दबाने देउस्सी लग्गन देओबधन देओनक्को-नक्क रजांदे...

पूरने

0
दिनै दी पट्टी परकिन्ना किश लखोए दा हारात पौंदे गै म्हिसी गेआ ऐन्हेरे दी गाचनी हेठछप्पी गेआ ऐ चन्नै...