काव्य-रचना

0
318

पंज तत्त
मचाई अत्त।

मरी मत्त
भुल्ली बत्त।

रुड़ेआ सत्त
झूठी कत्थ।

भैड़ी लत्त
चूसै रत्त ।

मौका हत्थ
करानी गत्त।

पुन्न कत्त
औना खत्त।

होनी झत्त
लब्भनी छत्त।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here